पंचतंत्र की कहानियाँ by Ayushi Shrivastava, IX B

Summer Reading Challenge 2019

IX B

पुस्तक का नाम  :-    पंचतंत्र की कहानियाँ
       लेखक       :-    गंगा शरण शर्मा
     प्रकाशक      :-   आत्माराम एंड सन्स
 पुस्तक संख्या    :-    13948
        मूल्य         :-     ₹ 350
पुस्तक के बारे में :-
             यह किताब बहुत अच्छी है। पंचतंत्र की कहानियों से हमें अपने जीवन में काफी कुछ सीखने को मिलता है। पंचतंत्र की इस किताब में दो तंत्र दिए गए हैं। इसके पहले तंत्र  में 25 कहानियाँ हैं तथा यह सभी कहानियाँ इस तंत्र के कुछ पात्रों से जुड़ी हुई हैं। इन कहानियों के मुख्य पात्र दमनक और करटक नाम के दो गीदड़ हैं। प्रथम तंत्र में सभी 25 कहानियाँ एक दूसरे से संबंधित हैं। यह कहानियाँ हमें जीवन के बारे में बहुत कुछ सिखाती हैं। हमें अपने जीवन का मूल उद्देश्य बताती हैं। यह तंत्र मित्रभेद से प्रारंभ होकर समझदार शत्रु नामक कथा पर खत्म होता है। इस किताब के दूसरे तंत्र में 8 कहानियाँ हैं।  इस तंत्र की सभी 8 कहानियाँ कुछ पात्रों से जुड़ी हुई हैं जिनमें प्रमुख लघुपतनक नाम का एक कौआ तथा हिरण्यक नाम का एक चूहा हैं। इस किताब की सभी 33 कहानियाँ हमें हमारे जीवन की बहुमूल्य शिक्षा प्रदान करती हैं। सभी को यह किताब अवश्य पढ़नी चाहिए।
                           – आयुषी श्रीवास्तव
                                    9 – (ब) 
                              केन्द्रीय विद्यालय आज़मगढ़
Posted in IX B | Tagged , , , , , , , , , | Leave a comment

Rajtarangini by Arya Rai, IX B

Summer Reading Challenge 2019

IX B

The  book  ‘Rajatrangini’ was the book related to the river of kings. This book give us interesting glimpses of life, including intrigue  in the  royal  court. Characters of epics, such as,  lord  Krishna, Brahma, Vishnu, Shiva  and  many others  find a place in the events. Handed down from generation to generation, these stories  cover  Kashmiri  rich  culture. All the stories of this  book  were  interesting  . But the story ‘The  man  who died  and  became  a  king ‘ was  much  better  than  all  the  stories. The  story ‘The  rule  of  a woman ‘ also  inspires  us  and  gives  us  a motto  that  we  should  give  equal  weight age to  women.  All  the  stories  were  interesting  and  teach us  interesting  things.  And  at last  I  want  to  say  that  everyone  should  read  this  book.

Arya Rai
Class 9 -B
Posted in IX B | Tagged , , , , , , , , | Leave a comment

हमारा अंतरिक्ष by   आयुषी श्रीवास्तव IX B

Summer Reading Challenge 2019

IX B

पुस्तक का नाम    :-   हमारा अंतरिक्ष
     लेखक           :-   टी. पक्षिराजन
    प्रकाशक         :-   सी.बी.टी.प्रकाशन
पुस्तक संख्या      :-    12029
      मूल्य            :-     ₹ 90
पुस्तक के बारे में  :-
                 यह एक अनोखी किताब है। इस किताब से हमें अंतरिक्ष की ढेरों जानकारियां प्राप्त होती हैं यह किताब एक जानी-मानी नर्सरी की कविता ट्विंकल – ट्विंकल लिटिल स्टार से शुरू होती है। इस किताब से हमें अंतरिक्ष के कई रहस्यों का पता चलता है।खगोल शास्त्र से जुड़ी यह किताब हमें बहुत रोचक बातें बताती है।
       खगोल शास्त्र एक अदभुत विज्ञान है। सन् 1930 में भौतिक विज्ञान के लिए नोबल पुरस्कार से सम्मानित भारतीय वैज्ञानिक सी.वी रमण ने इंडियन एकेडमी ऑफ साइंसेज की एक सभा में कहा था- “मेरा मानना है कि खगोल शास्त्र ऐसा विशाल, उन्नत, अत्यधिक रुचिकर विज्ञान कोई नहीं है…मैं सोचता हूं कि जिसने दूरबीन से आकाश की गहराइयों में नहीं देखा, वह व्यक्ति शिक्षित नहीं कहलाया जा सकता क्योंकि सृष्टि की सबसे अनोखी चीज को देखने से चूक रहा है, वह है ब्रह्मांड, जिसमें स्वयं रहता है”।
       यह ब्रह्मांड है ईश्वर की इस ब्रह्मांड का कोई अंत नहीं है, और ना ही इसकी कोई शुरुआत है। इसके बारे में हमें जो कुछ भी पता है वह बहुत कम है, और जो जानना बाकी है वह असीम है। हमारा सूर्य जो कि इतना विशालकाय है लेकिन तब भी यह छोटा सा एक तारा है। ब्रह्मांड में न जाने कितने तारे हैं जो हमारे सूर्य से भी लाखों गुना बड़े हैं।  और न जाने कितने रहस्यमयी पिंड हमारे इस सौर परिवार के सदस्य हैं।
           न जाने कितने अंतरिक्ष के रहस्यों से पर्दा उठाती है किताब बहुत ही रोमांचक है। हमने ब्रह्मांड के बारे में जो कुछ भी जानते हैं वह थोड़ा है और जो भी जाना बाकी है वह अत्यंत असीम है। यह रोज कर किताब सभी को पढ़नी चाहिए। खासकर उन लोगों को जिन्हें खगोल शास्त्र में विशेष रुचि है क्योंकि इस किताब से हमें हमारे अंतरिक्ष के बारे में काफी जानकारियां प्राप्त होती है।
                           –    आयुषी श्रीवास्तव
                                     9 – (ब) 
                                 केन्द्रीय विद्यालय आज़मगढ़
Posted in IX B | Tagged , , , , , , , , , | Leave a comment

Raindrops on Petals by Onkar Gupta, X B

BOOK REVIEW

NAME OF BOOK – Raindrops on Petals

AUTHOR- A. Biswas

PUBLISHER- Arya Book Depot

BOOK NO- 8623

PRICE- Rs. 40.00

REVIEW

Here is a collection of eighty poems. Each carters round and idea that is picked up as one goes through life. It may have tweaked the experience of fondled the feelings twanged the thoughts. Some poems awaken us with a feathery touch; some fathom the depth of a feeling, and some urge to reach the old, the young and the teenagers. Poems like Sacrifice, Bravery champion the old values. We are Growing Jungles, Election is Over, A New Leader brings out the frustration and fear of the common man. Being a Woman, Status of Women concern the vulnerable position of women in society; Cup and Saucer, Pavement Dweller concern poverty and suffering. Hunger- an eye opener; 80 crore people in the world suffer the torture of hunger. Ramu, My Friend’s Bus Stop, Papa Why Did You Not Teach Me are incidental happenings close to tears. Mouse Trap, How to Play the Game call for courage to meet challenges. God and Faith, Search Within, A Touch of God’s Hand strengthen our faith in God.

 

 

 

 

NAME:-Onkar gupta

CLASS:-                 X B

ROLL.NO:-             14

 

 

Posted in Class and Section, X B | Tagged , , , , , , , | 1 Comment

Lakshadweep Adventure by Onkar Gupta, X B

BOOK REVIEW

NAME OF BOOK- Lakshadweep Adventure

AUTHOR- Deepak Dalal

PUBLISHER- Navneet Publications (India) Limited

BOOK NO- 12139

PRICE- Rs. 60.00

Far out in the Arabian Sea, where the waters plunge many thousands of meters to the ocean floor, laid a chain of bewitchingly beautiful coral atolls the Lakshadweep island. Their lagoons have crystal-clear water and their reefs are deep and shrouded in mystery. Vikram and Aditya discover the secrets of the reefs by diving in their midst. But, when they stumble on to a devious kidnapping plot, their idyllic holiday suddenly turns into a desperate struggle for survival. Driven to the high seas in the face of a terrible storm, their fate hangs on the skills of a young islander.

A breathtaking adventure tale of scuba diving, sharks, windsurfing, survival, night voyages, sea turtles and sabotage; set in one of the most beautiful locales India.

 

 

 

NAME- Onkar gupta

CLASS-   X B

ROLL.NO- 14

 

Posted in Class and Section, X B | Tagged , , , , , , | 1 Comment

YOGAYOG by Onkar Gupta , X B

NAME OF BOOK :-YOGAYOG

AUTHOR:-Rabindranath Tagore

PUBLISHER:-Diamond Books

BOOK NO. :- 12006

PRICE:- 150 Rs.

REVIEW

In Vedic era women enjoyed equal status with men in every walk of llife. Strangely enough, there came a gradual decline in system, in which women were given secondary place in the socity, as women cotinued t9o be subjiected to humiliation, exploitation, and injustice down the ages.

“Yogayog” is the story of pure-heart, idyllic, beautiful, young women, Kumudini, and her highly accomplished brother, Bipradas. That’s not just the whole story all about. It is also a tale of her despotic husband, Madhusudan fails to  consummate his marriage with Kumudini in a natural man-woman relationship, despite her beingan exquisitely devoted wife, “Yogayog” also tells about commonion of two hearts, or the absence of it, caused by selfish egoism and lustfil moves. Will Kumudini be able to bring about a change in the behaviour of her arrogant husband?

 

 

 

 

NAME:-Onkar gupta

CLASS:-                 X B

ROLL.NO:-             14

 

Posted in Class and Section, X B | Tagged , , , , , , | Leave a comment

EARTHQUAKES by Arunesh Singh X B

Book Review

Book Name -: EARTHQUAKES

Author -: A.K.R. Hemmady

Publisher -: National Book Trust, India

Price -: Rs. 55.00

This book presents a geologist’s perception of earthquakes, their cause (plate tectonics) and methodology of investment, principal behind instruments, prediction, precautions and economic implications. It highlights the contributions of the Geological Survey of India including recognition of ancient glaciations by Bland ford brothers and F. Fadden which led to development of the plate tectonic theory. Few basic principles related to the design of earthquake-resistant structures and the controversy over the Tehri dam and reservoir induced seismicity have been briefly dealt with.

A.K.R. Hemmady (b.1932) worked for the Geological Survey of India from 1955-1988 after completing M.Sc (geology) from Lucknow University. He conducted geological mapping and mineral explorations in Kerala, Maharashtra and Gujarat. He served as head of the engineering and environmental geology.

Arunesh Singh

X B

Posted in Class and Section, X B | Tagged , , , , , , , | Leave a comment

Women in Indian Society by Ashutosh Singh, X B

Book Review

Book name: Women in Indian Society

Author: Neera Desai & Usha Thakkar

Publisher: National Book Trust, India

Price: Rs. 60

Women in Indian Society make a commendable effort to probe various aspects of the condition of Indian women today… A useful handbook for any feminist scholar… It is a handbook that will interest and provoke much discussion. In the sphere of women’s studies, it will rank as an important contribution.’ Indian Post `The issues dealt with (here) are varied and range from analyses of the huge context of Indian society to specific issues of sex stereotyping, violence, media and awareness. An interdisciplinary approach enables the volume to cover the rather vast area of women in Indian society. Confined to women and women issues, the book makes a concerted effort to present the status of Indian women against the ever changing social, economic, political and academic back-grounds. The book, specially, published on the occasion of ‘Women Empowerment Year 2001’, the book is a worthy contribution in the field of gender and social studies.

Ashutosh Singh

X B (2018-19)

Posted in Class and Section, X B | Tagged , , , , , , , | Leave a comment

अलीबाबा और चालीस चोर by Anupam Yadav, VII B

IMG_20180626_200817

पुस्तक का नाम-अलीबाबा और चालीस चोर
पुस्तक नंबर-14003
पुस्तक का मूल्य-300.0
संकलन: गंगा प्रसाद शर्मा

 

यह किताब मुझे बहुत अच्छी लगी इस किताब में 7 कहानियां हैं जिसमें से पहली3 कहानियां यात्रियों की है पहली यात्री की कहानी यह है कि उसमें एक राजा रहता था जिसकी पहली पत्नी की कोई संतान नहीं था और वह दूसरी शादी कर लिया दूसरी पत्नी को एक संतान हुआ राजा को व्यापार के सिलसिले में विदेश जाना पड़ा जाते समय उसने अपनी पत्नी को सख्त हिदायत कि मेरे पीछे बच्चे और मां का पूरा ख्याल रखना किस्म की कोई तकलीफ नहीं होनी चाहिए मैं 1 साल के अंदर लौट आऊंगा मगर उसकी पत्नी ने उसकी दूसरी पत्नी को और उसके संतान को गाय और बछड़ा बना दिया जब राजा 1 साल बाद आया तब अपनी पत्नी से पूछा कि मेरी दूसरी पत्नी का है और लड़का पति पत्नी ने बोला कि आप की दूसरी पत्नी तो मर गए और लड़का 2 महीने पहले ही खेलते-खेलते कहीं गुम हो गया 8 महीने बाद ईद का त्यौहार आया उसकी इच्छा हुई कि वह पशु की कुर्बानी दी उसने ग्वाले को बुलाया और कुर्बानी के लिए एक मोटी ताजी का ले आया सहयोग से वह उसकी दूसरी पत्नी को लेकर आया जिसे पहली पत्नी ने उसे जो जादू टोना से गाया बना दिया था लेकिन राजा उसे देखकर उस पर तरस आ गई और उसने उसे मार नहीं पाया राजा ने कहा दूसरी का लेकर आओ लेकिन पहली पत्नी ने मना कर दिया तो राजा ने ग्वालियर से कालू तुम 182 ग्वालियर से कांपने लगा और राजा ने हुक्म दिया तुम काट दो और ग्वालियर ने काट दिया बाद में वाले की बहन को जादू टोना आता था उसने राजा को मिलकर बताया कि वह आपकी पत्नी थी और उसके साथ यहां पर जो बछड़ा है वह आपका लड़का है राजा ने कहा क्या तुम इसे ठीक कर सकती हो पत्नी ने कहा क्या तुम इसे ठीक कर सकती हो हां मैं इसे ठीक कर सकती हूं लड़की ने फिर बछड़े को उसका असली रूप लड़का बना दिया राजा ने कहा मेरी पहली पत्नी को दंड दे दो तो उस लड़की ने उसे गाय बना दिया और यहीं पर कहानी खत्म हो गई दूसरी यात्री की कहानी दूसरे आदमी के कहानी में तीन भाई रहते थे जिसमें पिछला वाला सबसे अच्छा आदमी था तीनों व्यापारी थे और अपना अपना व्यापार करते थे पहले भाई ने कहा कि मैं विदेश जा कर व्यापार करूंगा और वह विदेश चला गया और वह 1 साल बाद आया और अपने बीच ले भाई के पास गया उसने कहा कि विदेश में जाकर मेरा धंधा खराब हो गया है मुझे कुछ पैसे दे दो और मैं पढ़ कर के वहां से ज्यादा अच्छा कमा लूंगा तीसरे भाई ने कहा मैं विदेश जा कर कमा लूंगा तीसरे भाई विदेश चला गया कमाने के लिए वह अभी फिर 1 साल बाद वापस आया और विजय भाई क्या गया क्या कि वहां पर मेरे व्यापार को बहुत नुकसान हुआ मेरे पास एक भी पैसा नहीं है मुझे पैसे दे दो और उसके भाई ने उसे 3000 अशरफिया दे दी फिर दोनों भाई ने जीत की कि 20 ले भाई को कहा कि चलो तीनों लोग विदेश में जाकर व्यापार करते हैं बीच ले भाई ने कहा कि नहीं नहीं वहां पर बहुत घाटा हो जाएगा लेकिन दोनों भाई ने अपनी जीत नहीं मानी और दूसरे भाई ने कहा मैं ठीक है चलता हूं उसने अपने कुछ पैसे वहीं पर छोड़ दिए और कुछ पैसों से विदेश चला गया लेकिन वहां पर जाकर उसे बहुत घाटा हुआ और उसके भाइयों ने उसका पैसा लेकर घूम लोगे तभी उसको एक परी मिली और उसे सब कुछ बताया और उसने सजा दी अपने दोनों भाइयों को कि वह कुत्ते बन जाए और वह घर आकर जो पैसा वापस छोड़ा था उससे व्यापार कर लिया या अभी दूसरे यात्री की कहानी अब मैं आखरी कहानी सुनाने जा रहा हूं जिसका शीर्षक है अलीबाबा चालीस चोर इस में दो भाई रहते थे और दोनों दोनों अलग-अलग घर में रहते थे और दोनों की शादी हो चुकी थी पहले भाई का नाम कासिम था और दूसरे भाई का नाम अलीबाबा था दूसरा भाई बहुत गरीब था और पहला भाई बहुत अमीर था गरीब भाई मेहनत मजदूरी से अपना पेट भरता था एक दिन वह जा रहा था तो देखा कि 40 गुणों से एक टीम आ रही है और WhatsApp गाड़ी है उसने देखा कि एक पत्थर के पास जाकर बोलता है कि खुल जा सिम-सिम और वह खुल जाता है पत्थर और वह अंदर जाकर बोलता है कि बंद हो जा सिम सिम और पत्थर बन जाता है फिर वह कुछ घंटो के बाद देखता है कि वहां से 40 घुड़सवार बाहर निकल कर चले जाते हैं वह डरते हुए जाता है और बोलता है खुल जा सिम सिम खुल दरवाजा खुल जाता है और उसमें देखता है बहुत से सोने चांदी रहते हैं और वह थोड़े से सोने चांदी उठाकर अपने घर ले जाता है और वह अपने जोड़ने के लिए तराजू अपने बड़े भाई से मांगता है तो उसकी पत्नी जान जाती है कि कुछ गड़बड़ लग रहा है उसने अपने तराजू के नीचे लगा रहता है और वह जब सोना आप जो करती है तब तक जाता है और वह तराजू दे आती है तब उसकी पत्नी देती है और उसकी पत्नी को मिल जाता है सोना और वह अपने पति से जाकर कहती है कि आपके छोटे भाई को कैसे सोना मिल गया है वह अपने छोटे भाई के पास जाता है और पूछता है धमकाता है तो उसके छोटे भाई उस गुफा के पास ले जाता है तो वह उसे दिखा बता देता है वह उसमे घुस जाता है छोटे भाई को बात कर और उसमें कसा सोना थोड़ा बहुत बार के घर ले जाता है तभी चालीस चोर आ जाते हैं और उसे देख जाते हैं और उसे पकड़ कर मार डालते हैं उसका छोटा भाई कैसे बिछड़ कर उसे घर ले गया और उसकी लाश को बीमार बताकर उस उसे दफन कर दिया 40 चोर जान गए थे कि उसका छोटा भाई भी यहां पर आया था और उसे मारने के लिए चोर बहुत सीटर की भी निकाल रहे थे लेकिन उस समय पत्नी ने उसे बचा लिया यह की आखिरी कहानी मुझे यकीन है कि आपको यह किताब मिलेगी तो आपको भी यह कहानी पसंद आएगी

 

नाम-अनुपम यादव
कक्षा-7ब

Posted in Class and Section, VII B | Tagged , , , , , , , , | Leave a comment

A Real Giraffe by Ajay Prajapati, VII A

Name of the book – A Real Giraffe

Acc.No. of the book – 13224

Publication – National Book Trust, India

Price of this book – 18\-

This book is very nice. In this book the story of a giraffe. The Title of this book The Real Giraffe. The language of book is English. This book is written by Deepa Agarwal. The subject of this book is Nehru BAL Pustakalaya. In this book only 20 pages. Year of publication-2017.  (Story)= Akshay said, “I know what I want for my birthday. I want a real Giraffe, papa looked at mamma. Mamma looked at papa” we need to a discuss this. Separately” we cannot have a real giraffe in the house,” mamma said to papa.” It might break the roof!”. “If we keep it outside “papa said it might eat up all the garden.” Can’t we give something else,” they said to Akshay.” A nice doggie? A cute kitty cat? A talking Parrot?”  NO! Akshay said. I want a Giraffe. Mamma said. “You can’t buy a giraffe! Mamma said.” You can’t buy one in the market.” “You can’t order one on the internet, either,” said papa. “Know where you can get you a real giraffe,” Akshay said. “You can get a real giraffe from the jungle. You can tell me giraffe from the jungle we visited. The jungle where the big tiger lives,” Akshay suggested. “Oh but there are no giraffe in that jungle, “papa said. “Yes mamma added giraffe live for away. They live in the jungle in .Africa”. “Why do giraffe live away akshay screamed. “ I want a giraffe! I want a REAL GIRAFFE!” papa looked at mamma. Mamma looked at papa. Then mama said,” Giraffe live in Africa because it is   their papas and mammas.” Yes papa said like you live with mamma & papa in your home.” Yes mamma said.” If you take a giraffe away from its mamma & papa it will be very sad. Like the giraffe in the zoo is always sad. “Oh-o,” Akshay said.” The giraffe lives with its papa & mamma in Africa? Like I live with my mamma & papa?” akshay begins to think…….. “I don’t want to make it sad… .”He declares. “all right you can give me a doggie …… but a really nice doggie!” Publication of this book is (National Book Trust, India) and A.cc. No. of this book is 13224 and the price of this book is 18\- .
.                                                                                                                        Ajay prajapati

.                                                                                                                         VII A

Posted in Class and Section, VII A | Tagged , , , , | Leave a comment